वंश और उनके संस्थापक के महत्वपूर्ण प्रश्न

0

NCERT Books Pdf In Hindi For All Classes 12,11,10,9,8,7,6

This PDF Notes Contains वंश और उनके संस्थापक के महत्वपूर्ण प्रश्न – UPSC Notes, SSC Notes

Dear Followers, SSCUPSCNOTES.COM Blog is know for Free Study Material in Hindi and English. On this blog we provide Handwritten class notes in Hindi and English for various competitive exams in India. Here you can Download Free PDF on Daily basis.

SSCUPSCNOTES.COM Website provides History Class Notes, Ancient History Class Notes in Hindi, Medieval History Handwritten Notes, Modern History Study Material in Hindi and English.

To make your competitive exams even easier, today we have brought for you वंश और उनके संस्थापक के महत्वपूर्ण प्रश्न This pdf will play a very important role in your upcoming competitive exams like – Bank Railway Rrb Ntpc Ssc Cgl and many other exams. This pdf is very important for the exam, it is being provided to you absolutely free, which you can download by clicking on the Download button below to get even more important pdfs. A. You can go pdf download in Riletid Notes

SSCUPSCNOTES.COM is an online education platform, here you can download Pdf for all competitive exams like – Bank Railway Rrb Ntpc Upsc Ssc Cgl and also for other competitive exams.

SSCUPSCNOTES.COM will update many more new Pdfs, keep visiting and update our posts and more people will get it

Important Gk Tricks

  1. मध्यकालीन भारत के सल्तनत काल के वंश क्रमानुसार
    TRICK:  => {गुल खिले तुम शायद लोगे}1.गुल – गुलाम वंश(1206-1290)
    2.खिले – खिलजी वंश(1290-1320)
    3.तुम – तुगलक वंश(1320-1398)
    4.शायद -सैय्यद वंश(1398-1451)
    5.लोगे -लोदी वंश(1451-1526)इन वंशो के संस्थापक क्रमानुसार
    TRICK:  => {कुमारी जरीना गोरी ने खिर बनाया}1.कुतुबुद्दीन ऐबक (गुलाम वंश)
    2.जलालुद्दीन खिलजी (खिलजी वंश)
    3.गयासुद्दीन तुगलक (तुगलक वंश)
    4.ख़िज्र खाँ (सैय्यद वंश)
    5.बहलोल लोदी (लोदी वंश)

Important Questions

1. चोल साम्राज्य के संस्थापक कौन था?

A. विजयलाया चोल

B. आदित्य प्रथम

C. परंतका चोल प्रथम

D. गंधरादित्य चोल

उत्तर: A

व्याख्या: चोल साम्राज्य का उदय 9वीं शताब्दी में हुआ और दक्षिण प्राय:द्वीप का अधिकांश भाग इसके अधिकार में था। चोल शासकों ने श्रीलंका पर भी विजय प्राप्त कर ली थी और मालदीव द्वीपों पर भी इनका अधिकार था। इस साम्राज्य की स्थापना विजयालय ने की थी। इसलिए, A सही विकल्प है।. 

2. बदामी के चालुक्य राजवंश के संस्थापक कौन था?

A. किर्तिवर्मन प्रथम

B. पुलकेशिन

C. मंगलेषा

D. पुलकेशिन द्वितीय

उत्तर: B

व्याख्या: चालुक्य प्राचीन भारत का एक प्रसिद्ध क्षत्रिय राजवंश है। इनकी राजधानी बादामी (वातापि) थी। इस राजवंश की स्थापना पुलकेशिन ने की थी। इसलिए, B सही विकल्प है।. 

3. निम्नलिखित में से कौन चेर राजवंश का अंतिम शासक था?

A. रवि राम वर्मा

B. भास्कर रवि वर्मा तृतीय

C. वीरा केरल

D. राम वर्मा कुलशेखर

उत्तर: D

व्याख्या: चेर प्राचीन भारत का एक राजवंश था। इसको यदा कदा केरलपुत्र नाम से भी जाना जाता है। इस राजवंश का अंतिम शासक राजा राम वर्मा कुलशेखर था। उसने 1090 से 1102 ईस्वी तक शासन किया था। इसलिए, D सही विकल्प है।. 

4. निम्नलिखित कथन (नों) पर विचार करें और बताएं कौन सा कथन चेर राजवंश के सन्दर्भ में सही है?

A. चेरों का राजकीय चिह्न ‘धनुष’ था।

B. चेर शासकों के समय मुजरिस को प्रमुख बन्दरगाह बनाया गया था।

C. Both I & II

D. Neither I nor II

उत्तर: C

व्याख्या: ऐतरेय ब्राह्मण में उल्लिखित ‘चेरपाद:’ सम्भवत: चेरों के विषय में प्रथम जानकारी है। अशोक के शिलालेखों में ‘केरलपुत्र’ के नाम से चर्चित चेर राज्य को ‘कुडावर’, ‘बिल्लवर’, ‘कुट्टवर’, ‘पुरैयार’, ‘मलैयर’ एवं ‘बनारवर’ आदि नामों से भी जाना जाता है। चेरों का राजकीय चिह्न ‘धनुष’ था। चेर शासकों के समय मुजरिस को प्रमुख बन्दरगाह बनाया गया था।इसलिए, C ही सही विकल्प है।. 

5. सातवाहन राजवंश के संस्थापक कौन था?

A. सिमुका

B. कान्हा

C. सतकर्णी

D. शिवस्वाती

उत्तर: A

व्याख्या: सातवाहन राजवंश भारत का प्राचीन राजवंश था, जिसने केन्द्रीय दक्षिण भारत पर शासन किया था। भारतीय इतिहास में यह राजवंश ‘आन्ध्र वंश’ के नाम से भी विख्यात है। सिमुक ने इस राजवंश के संस्थापना की थी। इस वंश के राजाओं ने विदेशी आक्रमणकारियों से जमकर संघर्ष किया था। इसलिए, A ही सही विकल्प है।. 

6. निम्नलिखित कथन (नों) पर विचार करें और बताएं कौन सा कथन सातकर्णि के सन्दर्भ में सही है?

A. इसके जारी किये गए सिक्को पर श्वसुर अंगीयकुलीन महारथी त्रणकयिरो का नाम अंकित है।

B. यह सातवाहन शासकों में पहला शासक था जिसने इस वंश के शासकों में प्रिय एवं प्रचलित, ‘‘शातकर्णी’’ शब्द से अपना नामकरण किया।

C. ‘दक्षिणीपथ के भगवान’ के रूप में संदर्भित।

D. उपरोक्त सभी सही हैं

उत्तर: D

व्याख्या: सातकर्णि के सिक्कों पर उसके श्वसुर अंगीयकुलीन महारथी त्रणकयिरो का नाम भी अंकित है। शिलालेखों में उसे ‘दक्षिणापथ’ और ‘अप्रतिहतचक्र’ विशेषणों से विभूषित किया गया है। सातवाहन शासकों में वह पहला था जिसने इस वंश के शासकों में प्रिय एवं प्रचलित, ‘‘शातकर्णी’’ शब्द से अपना नामकरण किया तथा इसका नाम सांची स्तूप के प्रवेश द्वारों पर भी अंकित है। इसलिए, D ही सही विकल्प है।. 

7. निम्नलिखित में से कौन सातवाहन राजवंश का अंतिम शासक था?

A. वशिष्ठिपुत्र सतकर्णी

B. शिवस्कंद सतकर्णी

C. श्री यज्ञ सतकर्णी

D. विजया

उत्तर: C

व्याख्या: श्री यज्ञ सातवाहन वंश के इतिहास में अंतिम महत्त्वपूर्ण शासक था। इसने क्षत्रपों पर विजय प्राप्त की थी और इसके उत्तराधिकारी के बारे में अधिकांश जानकारी पौराणिक वंशावलियों और सिक्कों से मिलती है। इसलिए, C ही सही विकल्प है।. 

8. दक्षिण भारत का पहला शासक कौन था जिसने स्वर्ण सिक्कें जारी किये थे?

A. पुलकेशिन द्वितीय

B. विक्रमादित्य प्रथम

C. विक्रमादित्य

D. विनयादित्य

उत्तर: A

व्याख्या: पुलकेशी द्वितीय, पुलकेशी प्रथम का पौत्र तथा चालुक्य वंश का चौथा राजा था, जिसने 609-642 ई. तक राज्य किया। यह दक्षिण भारत का पहला शासक था जिसने स्वर्ण सिक्कें जारी किये थे। इसलिए, A ही सही विकल्प है।. 

9. निम्नलिखित में से किस सतवाना राजा ने अपने माता का नाम अपने नाम से जोड़ा था?

A. वशिष्ठपुत्र पुलुमावी

B. गौतमी पुत्र शातकर्णी

C. वशिष्ठिपुत्र सतकर्णी

D. उपरोक्त सभी

उत्तर: B

व्याख्या: गौतमी पुत्र श्री शातकर्णी सातवाहन वंश का सबसे महान शासक था जिसने लगभग 25 वर्षों तक शासन करते हुए न केवल अपने साम्राज्य की खोई प्रतिष्ठा को पुर्नस्थापित किया अपितु एक विशाल साम्राज्य की भी स्थापना की। यह पहला शासक था जिसने अपने माता का नाम अपने नाम से जोड़ा था। इसलिए, B ही सही विकल्प है।. 

10. निम्नलिखित में से किस चोल राजा ने चिदंबरम मंदिर के शिव पर तमिल भजन लिखा था?

A. अरिंजय चोला

B. परंतका चोल प्रथम

C. सुंदर चोल

D. गंधरादित्य चोल

उत्तर: A

व्याख्या: चोल शासकों ने न केवल एक स्थिर प्रशासन दिया, वरन् कला और साहित्य को बहुत प्रोत्साहन दिया। कुछ इतिहासकारों का मत है कि चोल काल दक्षिण भारत का ‘स्वर्ण युग’ था। अरिंजय चोला ने चिदंबरम मंदिर के शिव पर तमिल भजन लिखा था। इसलिए, A ही सही विकल्प है।. 

वंश और उनके संस्थापक के महत्वपूर्ण प्रश्न

DOWNLOAD MORE PDF

Maths Notes CLICK HERE
English Notes CLICK HERE
Reasoning Notes CLICK HERE
Indian Polity Notes CLICK HERE
General Knowledge CLICK HERE
General Science Notes
CLICK HERE

The above PDF is only provided to you by SSCUPSCNOTES.COM this Pdf is not written by us, if you like the PDF or if you have any kind of doubt, suggestion or question about the Pdf, then give us your Do contact on mail id-  Sscupscnotes@gmail.com or you can send suggestions in the comment box below.

Leave A Reply

Your email address will not be published.